प्रथम विश्व युद्ध (1914-1919 CE)

world war 1

जर्मन चांसलर बिस्मार्क ने 1870-1871 में फ्रांस को पराजित एवं अपमानित कर जर्मनी का एकीकरण किया। इसके साथ ही यूरोप में गुप्त संधियों का दौर शुरु हुआ और जिसका परिणाम स्वरुप 1914 में विश्वयुद्ध हुआ।

प्रथम विश्वयुद्ध के कारण:

आयुद्धों की होड़

विकृत राष्ट्रवाद

आतंकवादियों ने आस्ट्रिया के राजकुमार फ्रांज फर्डिनेप्ड की हत्या कर दी यह घटना युद्ध का तात्कालिक कारण सिद्ध हुई।

उपनिवेशों को लेकर प्रतिसपर्धा –

 प्रथम एवं द्वितीय विश्वयुद्ध का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण कारणों में एक रहा है उपनिवेशों को लेकर प्रतिस्पर्धा। औद्योगिक क्रान्ति के पश्चात् एशिया एवं अफ्रीका में साम्राज्यवादी शक्तियों के बीच भू-भाग को लेकर जैसे – अफ्रीका में मोरक्को एवं सूडान के मुद्दे पर तनाव, चीन पर नियंत्रण को लेकर प्रतिस्पर्धा इत्यादि। इस प्रतिस्पर्धा में नव-साम्राज्यवादी शक्तियाँ पिछड़ गई।

प्रतिष्ठा का प्रश्न –

अन्तर्राष्ट्रीय राजनीति में बड़ी शक्तियों के बीच प्रतिष्ठा का प्रश्न तनाव  का महत्वपूर्ण कारण रहा। प्रथम विश्व युद्ध से पूर्व ही ऐसी परिस्थितियाँ देखी जा सकती थी। जैसे – दक्षिणी-पूर्वी यूरोप पर नियंत्रण को लेकर आस्ट्रिया एवं रूस में प्रतिस्पर्धा, ब्रिटेन तथा जर्मनी के बीच नौसैनिक प्रतिस्पर्धा, फ्रांस तथा जर्मनी के बीच अल्सास लॉरेन के क्षेत्र को लेकर तनाव। (इटली, जर्मनी जैसे – राष्ट्रों के पास पर्याप्त उपनिवेश न होने के असंतोष)।

गुटबंदी – 

जर्मनी की सुरक्षा को ध्यान में रखकर बिस्मार्क ने ट्रिपल एलायंस (Tripple Alliance) नामक गठबंधन बनाया। 1879 में आस्ट्रिया एवं 1882 में इटली से सैन्य सहयोग को लेकर संधि की।

1890 के दशक एवं बीसवीं सदी के प्रारम्भ में ट्रिपल एतांत नामक एक प्रतिगुट का निर्माण हुआ। 1894 में रुस एवं फ्रांस के बीच समझौता। 1904 में ब्रिटेन एवं रूस के साथ समझौते ने इस गुण की बुनियाद रखी। यह कोई सैन्य गठबंधन नहीं था लेकिन इन सम्झौतों के माध्यम से पारस्परिक विवादों को दूर करने की कोशिश की गई। =

प्रथम विश्वयुद्ध के परिणाम/ प्रभाव 

  • राजतंत्रों की समाप्ति : जर्मनी, रूस, तुर्की
  • साम्यवादी क्रान्ति : 1917 में रूस में
  • जन-धन की हानि : सबसे खर्चीला युद्ध 186 बिलियन डालर का खर्च, 6.5 करोड़ लोग युद्ध में लड़े, जिसमे से  1.40 करोड़ लोग मारे गये, 2.20 करोड़ लोग घायल हुए।
  • वर्साय की संधि
  • राष्ट्र संघ की स्थापना
  • यूरोप में नये देश अस्तित्व में आये, पौलेण्ड, लाटविया, यूगोस्लाविया, लीथवानिया,
  • महिलाओं को मताधिकार मिला
  • यूरोप में 1926-29 की महामंदी 1919 ई. का शान्ति समझौता एवं वर्साय की संधि |

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *