पूर्वी भारत में सभ्यता का प्रसार (8 Qus.)

The spread of civilization in eastern India

1. पूर्वी भारत में निम्नलिखित किस काल को रचनात्मक काल कहा गया है?

(A)  3-4 सदी
(B)  4-7 सदी
(C)  5-8 सदी
(D)  6-7 सदी

2. कलिंग राज्य के संदर्भ में निम्नलिखत कथनों पर विचार कीजियेः

1. यह महानदी के दक्षिण में उड़ीसा के समुद्र तट पर स्थित था।
2.  इसका प्रसिद्ध राजा खारवेल था।
3.  हाथी दाँत और मोती का व्यापार रोम राज्य के साथ होता था।
4.  इसकी राजधानी कलिंग थी।

उपर्युक्त कथनों में कौन-से सत्य हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1, 2 और 3
(D) 1, 2, 3 और 4

3. चौथी से छठी सदी तक उड़ीसा में स्थापित हुए राज्यों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. इनमें सबसे महत्त्वपूर्ण माठर वंश का राज्य था।
2. इनको पितृभक्त वंश भी कहते हैं।
3. वशिष्ठ वंश ने अग्रहार (न्यास परिषद) की स्थापना की थी।

उपर्युक्त कथनों में कौन से सत्य  हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

4. निम्नलिखित में किस राजवंश ने वर्ष को बारह चन्द्रमास में विभाजित किया था?
(A) वशिष्ठ
(B) नल
(C) माठर
(D) मान

5. पुण्ड्रवर्धनभुक्ति राज्य के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. इसका क्षेत्र उत्तरी बंगाल में पड़ता था।
2. इनकी स्वर्ण मुद्राओं को दीनार कहा जाता था।
3. यहाँ धार्मिक प्रयोजनार्थ कर मुक्त भूमि दान दी जाती थी।

उपर्युक्त कथनों में कौन से सत्य  हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

6. 5 वी सदी में बंगाल में स्थापित राज्य के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. ‘समतट’ बंगाल में ब्रह्मपुत्र नदी द्वारा बनाया त्रिभुजाकार क्षेत्र था।
2. इसे चौथी सदी में समुद्रगुप्त ने अपने राज्य में मिला लिया था।
3. यहाँ पर ब्राह्मण धर्म का प्रभाव था।

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

7. निम्नलिखित में से किस विभाग की देखभाल अग्रहारिक नामक अधिकारी करता था?
(A) कर-संग्रहण
(B) धार्मिक न्यास
(C) भांडागारिक
(D) वन

7. 5 वी- 7 वीं सदी तक पूर्वी भारत के राज्यों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में कौन-सा असत्य है?
(A) ‘दण्डभुक्ति’ बंगाल और उड़ीसा के सीमांत क्षेत्रों में राजस्व संबंधी इकाई थी।
(B) ‘कामरूप’ सातवीं सदी में उत्कर्ष के शिखर पर पहुँचा।
(C) इस क्षेत्र से चंद्रगुप्त द्वितीय ने कर वसूल किया।
(D) ‘कामरूप’ के शासकों ने वर्मन की उपाधि धारण की।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!