बिहार की प्रमुख झीलें (Major lakes of Bihar)

बिहार के मैदानी भागों में अनेक प्राकृतिक झीलें पाई जाती हैं। बिहार के उत्तरी भाग में गंगा के मैदान में निम्न ढाल के कारण नदी बहाव अत्यंत मंद हो जाता है। जिस  कारण नदी अपने साथ बहाकर लाए गए अवसाद को उसी स्थान पर निक्षेपित कर देती है, इसके फलस्वरूप विसर्पाकार आकृति का निर्माण होने

बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Waterfall)

जलप्रपात (Waterfall) उस भौगोलिक स्थिति को कहते हैं, जहाँ नदी पर्वतीय अथवा पठारी क्षेत्र से तीव्र ढाल से होते हुए नीचे उतरती है। उस भौगोलिक क्षेत्र में जहाँ  कठोर और मुलायम चट्टान क्षैतिज अवस्था में होती है, वहाँ मुलायम चट्टान का तेजी से अपरदन होता है, जबकि कठोर चट्टान यथावत् स्थिति रहती है। बिहार में

यूरोप में पुनर्जागरण (Renaissance in Europe)

पुनर्जागरण का शाब्दिक अर्थ होता है पुन:जागना। पुनर्जागरण के कारन यूरोप में  कला, साहित्य, राजनीति, समाज,अर्थव्यवस्था, धर्म में एक नई प्रकार की सोच या मनोदशा का विकास हुआ। पुनर्जागरण के कारण: धर्मयुद्ध: पश्चिमी यूरोपीय राष्ट्र एवं अरबों के बीच जेरूसलम पर अधिकार को लेकर युद्ध हुए। इन युद्धों के कारण यूरोपीय श्रेष्ठता या धार्मिक श्रेष्ठता

बिहार की भौगोलिक संरचना (Geographical structure of Bihar)

संरचनात्मक दृष्टिकोण से बिहार को प्री-कैंब्रियन (Pre-Cambrian) कल्प से लेकर चतुर्थ कल्प तक की चट्टानें पाई जाती हैं। प्री-कैंब्रियन (Pre-Cambrian) कल्प की चट्टानें धारवाड़ संरचना और विंध्यन संरचना के रूप में बिहार के दक्षिणी पठारी भाग में पाई जाती हैं। दक्षिणी पठारी भाग की प्राचीनतम चट्टानें बृहद पेंजिया महाद्वीप (Pangea continent) के दक्षिणी भाग गोंडवाना

बिहार की भौगोलिक स्थिति (Geography of Bihar)

बिहार गंगा के मध्य मैदानी भाग में स्थित पूर्वी भारत का राज्य है। बिहार का वर्तमान स्वरूप 15 नवंबर, 2000 को झारखंड के पृथक् होने के बाद आया है। आयताकार आकृतिवाला वर्तमान बिहार का क्षेत्रफल 94,163 वर्ग किलोमीटर (36,357 वर्ग मील) है। यह भारत के कुल क्षेत्रफल का 2.86% है तथा क्षेत्रफल की दृष्टि से

यूनिवर्सल बेसिक इनकम (Universal Basic Income – UBI)

2019 लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगामी चुनाव का एजेंडा तय करते हुए एक बड़ा वादा किया है। उन्होंने एलान किया है कि कांग्रेस केंद्र की सत्ता में आई तो देश के सभी गरीबों को ‘न्यूनतम आय (Universal Basic Income – UBI) की गारंटी दी जाएगी। यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI) यूनिवर्सल

पद्म पुरस्कार विजेता – Padma Awards Winner (2019)

26 जनवरी 2019, गणतंत्र दिवस के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रो में कार्य करने वाले व्यक्तियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इसके अंतर्गत 4 को पद्म विभूषण, 14 को पद्म भूषण और 94 को पद्म श्री से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार कला, सामाजिक कार्य, लोक कल्याण, सरकारी क्षेत्र, विज्ञान, इंजीनियरिंग, व्यापार और उद्योग,

भारत रत्न पुरस्कार – Bharat Ratna Award (2019)

भारत सरकार द्वारा वर्ष 2019 के लिए 26 जनवरी को भारत रत्न (Bharat Ratna) पुरस्कार पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee), भूपेन हजारिका (Bhupen Hazarika) और नानाजी देशमुख (Nanaji Deshmukh) को प्रदान किया गया। भारत रत्न (Bharat Ratna) देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है, यह पुरस्कार कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल के क्षेत्रो

अकबरकालीन शासन व्यवस्था

शासन व्यवस्था अकबर ने संपूर्ण साम्राज्य को 15 सूबो (प्रांतो) में विभक्त कर दिया था। सूबों को सरकार (जिला), परगना (तहसील) तथा गांवों में विभक्त कर दिया। इनका कार्यभार निम्नलिखित अधिकारियों द्वारा संचालित किया जाता थाः । सूबा/प्रांतीय प्रशासन: सिपासालार – यह कार्यकारी मुखिया था, जिसे बाद में निज़ाम या सूबेदार के नाम से जाने

जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर (1556-1605 ई.)

जन्म – 15 अक्टूबर 1542 ई. (अमरकोट राणा वीरसाल के महल में) माता-पिता – हमीदा बानो बेगम, हुमायूँ मूल नाम – जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर राज्याभिषेक – 14 फरवरी 1556 ई. कलानौर (पंजाब) अकबर का राज्याभिषेक 14 फरवरी 1556 ई. कलानौर (पंजाब) नामक स्थान पर मात्रा 14 वर्ष की अल्पायु में हुआ। अल्पायु के कारण अकबर
error: Content is protected !!