ईरान के साथ व्यापार के लिए यूरोपीय देशों द्वारा नए भुगतान चैनल (INSTEX) की घोषणा

हाल ही में यूरोपीय देशों (जर्मनी, फ्रांस और इंग्लैंड) ने ईरान के साथ एक अलग भुगतान चैनल (Payment channel) बनाने की घोषणा की है। यह भुगतान चैनल (Payment channel), INSTEX के नाम से बना है, जिसका उद्देश्य अमेरिकी प्रतिबंधों को दरकिनार कर, ईरान के साथ व्यापार जारी रखना है। यूरोपीय देशों का कहना है कि

द्वितीय विश्व युद्ध (1939 – 1945 CE)

द्वितीय विश्व युद्ध 1 सितम्बर 1939 को शुरु हुआ। द्वितीय विश्व युद्ध के कारण  वार्साय की संधि  तुष्टिकरण की नीति राष्ट्र संघ की असफलता उग्र राष्ट्रवाद  सैन्यीकरण द्वितीय विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण 1938 ई. तक हिटलर की आक्रामक गतिविधियों के कारण यूरोप का वातावरण तनावपूर्ण हो गया था। हिटलर ने चेकोस्लोवाकिया पर अधिकार करने

यूरोप में धार्मिक पुनर्जागरण (Religious Renaissance in Europe)

16वीं सदी में पोप की सत्ता एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ एक आन्दोलन प्रारम्भ हुआ, जिसे धर्मसुधार आन्दोलन कहा गया है। यह धर्म सुधार दो तरह से हुआ – प्रोटेस्टेंट धर्म सुधार: इसमें कैथोलिक धर्म में व्याप्त बुराइयों को चुनौती दी गयी, एवं एक नवीन धर्म का उदय हुआ। प्रतिधर्म सुधार आन्दोलन : इसके अन्तर्गत कैथोलिक

बिहार में मृदा संसाधन

मृदा ठोस भूपटल के ऊपरी असंगठित पदार्थों की परत है, जिसका निर्माण चट्टानों के विखंडन से होता है। मृदा निर्माण में जल, आर्द्रता और तापमान जैसे अन्य प्राकृतिक कारक मुख्य भूमिका निभाते हैं। बिहार राज्य के 90 % भाग पर जलोढ़ मिट्टी पाई जाती है, जिसका निर्माण गंगा नदी के उत्तर और दक्षिण के जलोढ़

यूरोप में प्रबोधन का युग (The era of enlightenment in Europe)

वैज्ञानिक आविष्कारों और अनुसंधानों के कारण न केवल विज्ञान के क्षेत्र में बल्कि धर्म,राजनीति, अर्थव्वस्था, दर्शन, साहित्य आदि अनेक मानवीय क्षेत्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का उदय हुआ इस वैज्ञानिक दृष्टिकोण के आधार पर विकसित दार्शनिक या वैचारिक क्रान्ति को प्रबोधन या ज्ञानोदय कहते हैं। प्रबोधन की विशेषताएँ  प्रयोग एव परीक्षण पर बल दिया कार्यकरण सम्बन्ध

यूरोप में औद्योगिक क्रान्ति (Industrial Revolution in Europe)

औद्योगिक क्रान्ति से तात्पर्य है कि उत्पादन की पद्धति परिवर्तन। औद्योगिक क्रान्ति परिवर्तनों की एक सतत श्रृंखला है। सर्वप्रथम “लुई ब्लों” नामक समाजवादी विचारक ने मुहावरे के तौर पर इस शब्द का प्रयोग किया। औद्यागिक क्रान्ति ने न केवल आर्थिक जीवन में क्रान्तिकारी परिवर्तन किया बल्कि सामाजिक, राजनीतिक एवं सांस्कृतिक जीवन को भी व्यापक तौर पर

बिहार में आर्द्रभूमि क्षेत्र (Wetlands in Bihar)

वर्ष 1971 में ईरान (Iran) में आयोजित रामसर सम्मेलन (Ramsar conference) के अनुसार आर्द्रभूमि  निम्न रूप में परिभाषित किया जा सकता है | जैसे – दलदल (Marsh), पंकभूमि (Fen), पिटभूमि, जल, कृत्रिम या अप्राकृतिक,   स्थायी या अस्थायी , स्थिर जल या    गतिमान जल, ताजा पानी , खारा व लवणयुक्त जल क्षेत्रों को आर्द्रभूमि (Wetland)

बजट 2019 – एक नजर में

आम लोगों के लिए आयकर रहित ग्रेच्युटी की सीमा 10 लाख से बढ़ कर 20 लाख रुपये हुई 21 हजार आय पर मिलेगा सात हजार का बोनस पीएफ वालों को मृत्युपर मिलेगा 6 लाख का मुआवजा दूसरे घर से मिलने वाले अनुमानित किराये पर अब टैक्स नहीं देना पड़ेगा स्टैंडर्ड डिडक्शन की सीमा भी 40

पंजाब में सिंधु डॉल्फिन को जल जीव का दर्जा,

पंजाब सरकार द्वारा व्यास नदी (Vyas river) में पाई जाने वाली लुप्तप्राय सिंधु डॉल्फिन को जल जीव का दर्जा देने की अनुमति प्रदान की है। सिंधु डॉल्फिन (Indus Dolphin) एक दुर्लभ प्रजाति की मछली है, जो व्यास नदी की पर्यावरण प्रणाली के संरक्षण के लिए प्रमुख प्रजाति होगी। व्यास नदी में पानी के अनियमित प्रवाह को

बिहार के प्रमुख गर्म जलकुंड

बिहार में सदाबहार एवं मौसमी नदियों के अतिरिक्त  जल के अन्य प्रमुख स्रोतों जैसे – गर्म जल के स्रोत (कुंड), जलप्रपात, झील आदि सम्मिलित हैं। बिहार के गया, नालंदा और मुंगेर क्षेत्रो में गर्म जल के अनेक कुंड हैं। वह प्राकृतिक स्थल जहाँ जल भूगर्भ से स्वतः बाहर निकालता है कुंड कहलाते है। यह भूगर्भिक
error: Content is protected !!