Daily Current Affairs 13 feb 2013 – PIB Analysis & Danik Jagran

7 th गढवाल राइफल इंफेंट्री बटालियन का दल दक्षिणी सूडान में शांति मिशन में शामिल

 

प्रमुख बिंदु 

  • युद्धग्रस्त देश दक्षिण सूडान में शांति और सामान्‍य स्‍थिति की बहाली के संयुक्त राष्ट्र के प्रयासों में मदद के लिए  भारतीय सेना अपने करीब 2300 सैन्‍य कर्मियों को वहां भेज रही है।
  • भारतीय सेना की सातवीं गढ़वाल राइफल्स इन्फैंट्री बटालियन के दल को इस काम के लिए भेजा जा रहा हैं।
  • गढ़वाल राइफल्स और उसकी यूनिट के लिए गौरव की बात है क्योंकि गढ़वाल क्षेत्र के सैनिकों को पहली बार दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन में तैनात करने के लिए नामित किया गया है।

वन क्षेत्र के मामले में भारत दुनिया के शीर्ष दस देशों में

forest in india

केन्‍द्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने देश में वनाच्‍छादित क्षेत्रों में हो रही वृद्धि के महत्‍व को रेखांकित करते हुए आज कहा कि पिछले एक दशक में दुनिया भर में जहां वन क्षेत्र घट रहे हैं वहीं भारत में इनमें लगातर बढोतरी हो रही है।

प्रमुख बिंदु 

  • ‘भारत वन स्‍थिति रिपोर्ट 2017’ जारी करते हुए कहा कि वन क्षेत्र के मामले में भारत दुनिया के शीर्ष 10 देशों में है।
  • घने वन क्षेत्र वायुमंडल से सर्वाधिक मात्रा में कार्बन डाइऑक्‍साइड सोखने का काम करते हैं।
  • इस मामले में आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और केरल का प्रदर्शन सबसे अच्‍छा रहा। आंध्र प्रदेश में वन क्षेत्र में 2141 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई, जबकि कर्नाटक 1101 किलोमीटर और केरल 1043 वर्ग किलोमीटर वृद्धि के साथ दूसरे व तीसरे स्‍थान पर रहा।
  • क्षेत्र के हिसाब से मध्‍य प्रदेश के पास 77414 वर्ग किलोमीटर का सबसे बड़ा वन क्षेत्र है, जबकि 66964 वर्ग किलोमीटर के साथ अरूणाचल प्रदेश और छत्‍तसीगढ क्रमश: दूसरे व तीसरे स्‍थान पर है।
  • कुल भू-भाग की तुलना में प्रतिशत के हिसाब से लक्षद्वीप के पास 90.33 प्रतिशत का सबसे बड़ा वनाच्‍छादित क्षेत्र है।

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद बैठक आयोजित 

 

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (Economic Advisory Council to the Prime Minister -EAC-PM) की चौथी बैठक 12 फरवरी, 2018 को नीति आयोग के सदस्य बिबेक देबरॉय की अध्यक्षता में हुई।

प्रमुख बिंदु 

  • वर्ष 2018-19 के बजट में सरकार द्वारा घोषित राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना को ध्यान में रखते हुए, EAC-PM ने इस योजना को लागू करने की संभावित रूपरेखाओं पर चर्चा की।
  • इस बैठक में परिषद के सदस्यों द्वारा ‘स्वास्थ्य सुधार’, ‘भारतीय राजकोषीय-मौद्रिक फ्रेमवर्क : वर्चस्व या समन्वय’ और ‘भारतीय अर्थव्यवस्था पर विश्व बैंक रिपोर्ट’ जैसी प्रेज़ेंटेशन्स दी गई।
  • EAC-PM एक पाँच सदस्यीय  गैर-संवैधानिक, गैर-सांविधिक और अस्थायी प्रकार का एक स्वतंत्र निकाय है।

केरल में केंचुए की दो नई प्रजातियों की खोज

केरल में महात्मा गांधी विश्वविद्यालय और हिमाचल प्रदेश के शूलिनी विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने केरल के पश्चिमी घाट की पर्वत श्रृंखला में केंचुए की दो नई प्रजातियों ‘द्राविडा पॉलीडाइवर्सिकुलेटा’ (Drawida polydiverticulata) तथा ‘द्राविडा थॉमसी’ (Drawida thomasi) की खोज की।

 

प्रमुख बिंदु 

  • ये प्रजातियाँ केंचुए की ‘Moniligastridae’ परिवार  से संबंधित हैं। अब तक द्रविड वर्ग की कुल 200 केंचुए की प्रजातियों को पहचाना जा चुका है, जिनके निवास-स्थल संपूर्ण भारत-चीन क्षेत्र से दक्षिण-पूर्व एशिया तथा उत्तर में जापान में फैले हुए हैं।
  • वर्तमान में द्राविडा वंश में लगभग 200 प्रजातियां ज्ञात हैं, इनका विस्तार भारत-चीन क्षेत्र से लेकर दक्षिण-पूर्व एशिया और उत्तर में जापान में भी फैला हुआ है.
  • द्राविडा  पॉलीडाइवर्सिकुलेटा’ केंचुए में कई लोब्स होते हैं, जिन्हें ‘डाइवर्सिकुलम’ कहा जाता है। यह इराविकुलम राष्ट्रीय उद्यान, पंपादुन शोला नेशनल पार्क और चिन्नार वन्यजीव अभयारण्य सहित मुन्नार क्षेत्र के संरक्षित शोला घास के मैदानों में व्यापक रूप से पाया गया है।
  • ‘‘द्राविडा  थॉमसी’ नामक केंचुए की इस प्रजाति को मालाप्पुरम तथा कोझीकोड की सीमा के बीच स्थित कोझिप्पाड़ा झरना के समीप पाया गया है।
  • केंचुए की इस प्रजाति का नाम प्रोफेसर ए.पी. थॉमस के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने केरल में केंचुओं के वर्गीकरण विज्ञान पर अध्ययन प्रारंभ किया था।

Source : PIB & Danik Jagran

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *