Author: Manish

कम्प्यूटर की पीढियाँ (Generations of computer)

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (1940-1956) कम्प्यूटर की प्रथम पीढ़ी की शुरूआत 1940 से मानी जाती है। इस जनरेशन Vacuum Tube Technology में का प्रयोग किया गया था। इसमें मशीन भाषा का प्रयोग किया गया था। इसमें मेमोरी की तौर पर चुम्बकीय टेप एवं पचकार्ड का प्रयोग किया जाता था। इस पीढ़ी के कुछ कम्प्यूटरों के

कम्प्युटर : परिचय एवं विकास क्रम

कम्प्यूटर शब्द की उत्पत्ति अंग्रेजी के शब्द Compute’ से मानी जाती है। जिसका अर्थ होता है गणना करना। कम्प्यूटर को हिंदी भाषा में अभिकलित्र या सगंणक भी कहा जाता है। कम्प्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक यन्त्र है जो अत्यंत तीव्रगति से गणनाएँ करने में सक्षम है। जो इसके अर्थ को और भी अधिक व्यापक बना देते

बिहार में उच्च न्यायालय की संवैधानिक स्थिति

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 214 के अंतर्गत प्रत्येक राज्य के लिए एक उच्च न्यायालय की व्यवस्था की गई है, किंतु दो या दो से अधिक राज्यों के लिए एक ही उच्च न्यायालय, अथवा बड़ी जनसंख्या वाले राज्य के लिए एक से अधिक उच्च न्यायालय की व्यवस्था का अधिकार भारतीय संसद् को प्राप्त है। राज्य में

बिहार में राज्यपाल की संवैधानिक स्थिति

बिहार की राज्य सरकार 3 इकाइयों में विभाजित है — कार्यपालिका, विधायिका न्यायपालिका राज्यपाल राज्य का संवैधानिक तथा कार्यपालिका का प्रमुख होता है। राज्यपाल के पद व अधिकारों का उल्लेख  संविधान के अनुच्छेद 153 से 162 तक में किया गया है। राज्य का समस्त प्रशासन राज्यपाल के नाम से ही संचालित होता है। इस सन्दर्भ

बिहार राज्य में प्रमुख आयोग

राज्य निर्वाचन आयोग भारतीय संविधान के अनुच्छेद 243 के अंतर्गत राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा राज्य में पंचायतों व नगरपालिकाओं के चुनाव का संचालन कराने हेतु एक संवैधानिक संस्था है। इस आयोग का प्रमुख राज्य निर्वाचन आयुक्त होता है, जिसकी नियुक्ति राज्यपाल द्वारा की जाती हैं। पंचायतों व नगरपालिकाओं  के निर्वाचन हेतु निर्वाचक नामावली तैयार कराना, चुनाव का

बिहार राज्य विधानमंडल (Bihar State Legislature)

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 168 के अनुसार प्रत्येक राज्य का एक विधानमंडल होगा, जिसमें राज्यपाल, विधानसभा एवं विधानपरिषद् होगी। अनुच्छेद 169 के अनुसार भारतीय संसद् किसी भी राज्य के लिए विधानपरिषद् की स्थापना या उसकी समाप्ति के लिए नियम व उपनियम बना सकती है, किन्तु इसके लिए संबंधित राज्य की विधानसभा द्वारा 2/3 बहुमत से

बिहार राज्य का गठन

बिहार राज्य का गठन  22 मार्च, 1912 को हुआ। भारत सरकार अधिनियम 1919 के प्रावधानों के अनुसार सत्येंद्र प्रसाद सिन्हा को बिहार का प्रथम गवर्नर नियुक्त किया गया। भारत सरकार अधिनियम 1935 के अंतर्गत केंद्र में द्वैध शासन एवं प्रांतों में प्रांतीय स्वायत्तता को लागू किया गया। 1935 के अधिनियम से बिहार में विधानसभा एवं

बिहार राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थल (Part – 3)

भुलनी धाम, रोहतास यह मंदिर रोहतास जिले के विक्रमगंज के निकट भुलनी नामक ग्राम में स्थित है। इस मंदिर के निकट माता पार्वती का प्राचीन मंदिर स्थित है, जहाँ प्रतिवर्ष अप्रैल एवं अक्तूबर माह में भव्य मेले का आयोजन होता है। गुप्तधाम, रोहतास  बिहार के रोहतास जिले में स्थित इस मंदिर में प्राकृतिक रूप से

बिहार राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थल (Part – 2)

बड़ी पटनदेवी मंदिर, पटना पटना सिटी के  महाराजगंज क्षेत्र में स्थित माँ दुर्गा का प्रसिद्ध मंदिर , 51 शक्तिपीठों में से एक है। छोटी पटनदेवी मंदिर, पटना माता भगवती को समर्पित यह मंदिर पटना में स्थित अत्यंत प्राचीन मंदिर है। यहाँ बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूजा-अर्चना करते हैं। शिव मंदिर, बैकुंठपुर इस शिव मंदिर का

बिहार राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थल (Part – 1)

नालंदा बिहार की राजधानी पटना से लगभग 90 Km की दूरी पर स्थित नालंदा विश्व के प्राचीनतम शिक्षा स्थलों में से है। नालंदा विश्वविद्यालय बौद्ध शिक्षा का विश्व विख्यात केंद्र था जिसकी स्थापना गुप्त वंश के शासक कुमारगुप्त द्वारा की गई थी। वर्तमान में  चीन के सहयोग से द्वारा इसका जीर्णोद्धार किया जा रहा है।
error: Content is protected !!