Author: Manish

मध्य प्रदेश – जलवायु क्षेत्र (Madhya Pradesh – Climate)

वायुमंडल में होने वाला अल्पकालिक परिवर्तन मौसम तथा मौसम में होने वाले दीर्घकालिक परिवर्तन को जलवायु कहते है जिसका प्रभाव एक विस्तृत क्षेत्र और पर्यावरण पर पड़ता है। कर्क रेखा, मध्य प्रदेश के मध्य से गुजरती है जिसके कारण मध्य प्रदेश की जलवायु मानसूनी प्रकार (उष्णकटिबंधीय) की है। यहाँ की जलवायु को प्रभावित करने वाले

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्वत (Major Mountains of Madhya Pradesh)

मध्य प्रदेश का अधिकांश भाग पठारी होने के साथ-साथ मध्य प्रदेश में कुछ प्रमुख पर्वत भी पाए जाते हैं। जो निम्नलिखित है – अरावली पर्वत श्रेणी (Aravali Mountain Range) अरावली पर्वत श्रेणी को पृथ्वी की प्राचीनतम पर्वत श्रृंखला माना जाता है, जिसके ढाल अधिक तीव्र हैं। यह पर्वत मालवा पठार के उत्तर-पश्चिम भाग में विस्तृत है।

मध्य प्रदेश – भौतिक संरचना (Physical Structure)

मध्य प्रदेश को उसकी भौतिक परिस्थितियों के आधार पर 3  प्राकृतिक प्रदेशों  में वर्गीकृत किया गया है। मध्य उच्च प्रदेश (Middle High Region)  मध्य उच्च प्रदेश त्रिभुज के आकार का एक पठारी प्रदेश (plateau region) है, जो नर्मदा, सोन घाटियों एवं अरावली श्रेणियों के मध्य स्थित है। नर्मदा सोन घाटी के उत्तर में स्थित कैमूर,

मध्य प्रदेश – स्थिति एवं विस्तार (Status and Expansion) और भौतिक संरचना (Physical Structure)

उत्तरी भारत में स्थित मध्य प्रदेश राज्य चारों ओर से पूर्णतः स्थलों से घिरा है, जो ना ही किसी अंतर्राष्ट्रीय सीमा को और न ही किसी सागरीय सीमा को स्पर्श करता है।  भारत के मध्य में स्थित होने के कारण, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) , को ‘हृदय प्रदेश’ भी कहा जाता है। स्थिति एवं विस्तार

कंप्यूटर (Computer) – सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस (Secondary Storage Device)

Secondary Strorage Device को  Auxiliary Strorage Device भी कहा जाता है। इस मैमोरी का उपयोग बैकअप के लिए किया जाता है। इसकी Storage क्षमता अधिक और डाटा एक्सेस करने की गति Primary Memory की अपेक्षा धीमी होती है। डाटा को एक्सेस करने के आधार पर Secondary Strorage Device को तीन वर्गों में विभाजित किया गया

कंप्यूटर – प्राथमिक मेमोरी (Computer primary memory)

कंप्यूटर की मेमोरी कंप्यूटर में स्टोरेज स्पेस होती है, जहाँ डेटा को प्रोसेस करना होता है और प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक निर्देश संग्रहीत होते हैं। मेमोरी को बड़ी संख्या में छोटे भागों में विभाजित किया जाता है जिन्हें कोशिका कहा जाता है। मैमोरी दो प्रकार की होती है। Primary Memory Secondary Memory Primery Memory (प्राइमरी

कम्प्युटर में प्रयुक्त होने वाले प्रमुख शब्द

ALGOL — Algorithmic Language  ALU — Arthmatic and Logical Unit  AMD — Advaced Micro Devices  API — Application Programming Interface  ASP — Application Service Provider BASIC — Beginners All purpose Symbolic Instruction Code  BIOS — Basic input Output System  BITS — Binary Digits  BPI — Bytes Per Inch  CAD — Computer Aided Design CAL — Computer Aided Learning  CD — Compact Disk  CDMA — Code Division Multiple

कम्पयूटर सिस्टम के घटक (Components of computer systems)

कम्पयूटर के वह घटक (Component) जिस की सहायता से कंप्यूटर कार्य करते है कंप्यूटर घटक कहलाते है। कम्प्यूटर सिस्टम के चार घटक होते हैं, जो निम्नलिखित हैं – Input Output Process Memory इनपुट डिवाइस (INPUT DEVICES) मानवीय निर्देशों को कम्प्यूटर के समझने योग्य संकेतों में परिवर्तित करने के लिए जिन युक्तियों का प्रयोग किया जाता

UPSC Civil Services Prelims Exam Solved Paper – 2018 (Hindi)

1. निम्नलिखित घटनाओं पर विचार कीजिए: भारत के किसी राज्य में सर्वप्रथम लोकतात्रिक रूप से चुनी गई साम्यवादी दल की सरकार। भारत का उस समय का सबसे बड़ा बैंक ‘इम्पीरियल बैंक ऑफ इंडिया’ जिसका नाम बदलकर ‘भारतीय स्टेट बैंक रखा गया। एयर इंडिया का राष्ट्रीयकरण किया गया और यह राष्ट्रीय वाहकबन गया। गोवा स्वतंत्र भारत

कम्प्यूटर के प्रकार (Types of Computer)

एप्लीकेशन के आधार कम्प्यूटर 3 वर्गों में विभाजित किया जा सकता है – Analog Computer — वे कम्प्यूटर जो भौतिक मात्राओं को नापने का कार्य करते हैं। Analog Computer का प्रयोग विज्ञान एवं Engineering के क्षेत्र में होता है। क्योंकि इन क्षेत्रों में परिमाण का प्रयोग अधिक होता है। Digital Computer — यह कम्प्यूटर अंकों की
error: Content is protected !!