Author: StudyIdol

पृथ्वी की गतियाँ — घूर्णन और परिक्रमण

पृथ्वी की गति दो प्रकार की है घूर्णन – पृथ्वी का अपने अक्ष पर घूमना घूर्णन कहलाता है। परिक्रमण – सूर्य के चारों ओर एक स्थिर कक्ष में पृथ्वी की गति को परिक्रमण कहते हैं। घूर्णन (Rotation on the axis) पृथ्वी का अक्ष एक काल्पनिक रेखा है, जो इसके कक्षीय सतह से 66½° का कोण बनाती

ओशिनिया महाद्वीप के देश (Countries of Oceania continent)

ऑस्ट्रेलिया (Australia) इसे प्यासी भूमि का देश भी कहा जाता है तथा यहाँ के मूल निवासी एबोरिज़न्स (Aborigines) कहलाते हैं। प्रमुख खान एवं खनिज  ऑस्ट्रेलिया (Australia) विश्व का सबसे बड़ा बॉक्साइट उत्पादक देश हैं। यहाँ स्थित ब्रोकन हिल क्षेत्र का सीसा-जस्ता उत्पादन में विश्व में दूसरा स्थान हैं। यहाँ ताँबे के भण्डार Mt. ईसा में मिलते हैं। ऑस्ट्रेलिया (Australia) दक्षिणी गोलार्द्ध का सबसे

अण्टार्कटिका महाद्वीप (Antarctica Continent)

अण्टार्कटिका महाद्वीप (Antarctica Continent) को श्वेत महाद्वीप के नाम से भी जाना जाता हैं। समुद्र स्तर से सर्वाधिक ऊँचाई पर स्थित होने के कारण यह सर्वाधिक ठंडा महाद्वीप है, तथा यह एक गतिशील महाद्वीप हैं। विज्ञान के लिए समर्पित महाद्वीप हैं तथा यहाँ की सबसे ऊँची चोटी – विन्सन मैसिफ (Winson maniffe) हैं। एरेबस अण्टार्कटिका महाद्वीप (Antarctica Continent) का एकमात्र सक्रिय ज्वालामुखी हैं। यहाँ स्थित Vostok

विश्व के महासागर (Ocean of the world)

महासागर के घटते क्रम (आकार में) प्रशांत महासागर (Pacific Ocean) अटलांटिक महासागर (Atlantic Ocean) हिंद महासागर (Indian Ocean) दक्षिण महासागर (Southern Ocean) आर्कटिक महासागर (Arctic Ocean) प्रशांत महासागर  (Pacific Ocean) प्रशांत महासागर (Pacific Ocean) की आकृति त्रिभुजाकार है। इस महासागर में सर्वधिक 32 गर्त (Trench) है। यहाँ स्थित मेरियाना गर्त (Mariana Trench) संसार का सबसे गहरा गर्त है, जिसकी गहराई

भारत के प्रमुख दर्रे (Main Passes of india)

पहाड़ियों एवं पर्वतीय क्षेत्रों में पाए जाने वाले आवागमन के प्राकृतिक मार्गों को दर्रा (Passes) कहा जाता है। भारत में प्रमुख दर्रे काराकोरम दर्रा यह दर्रा जम्मू-कश्मीर राज्य के लद्दाख क्षेत्र में काराकोरम पहाड़ियों के मध्य स्थित है। इस दर्रे से होकर यारकन्द एवं तारिम बेसिन का मार्ग गुजरता है। यह भारत का सबसे ऊँचा दर्रा

उत्तरी एशिया में स्थित देश (Countries located in northern Asia)

जापान (Japan) एशिया महाद्वीप में स्थित जापान देश को पूर्व का ब्रिटेन, निप्पन (उगते हुए सूर्य की भूमि) आदि नामों से भी जाना जाता हैं। यह देश एक द्वीपीय चाप का उदाहरण हैं। इस देश के अंतर्गत आने वाले 4 मुख्य दीप निम्न है – होकैडों द्वीप होंशू द्वीप  शिकोकू द्वीप क्यूशू द्वीप हाँकेडो  द्वीप

पश्चिमी एशिया में स्थित देश (Countries located in Western Asia)

Source : Google Map तुर्की (Turkish) तुर्की (Turkish) देश की राजधानी अकांरा (Ankara) है। तुर्की (Turkish) दोनों महाद्वीपों एशिया व यूरोप के मध्य स्थित होने के कारण इसे एशिया का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। यहाँ स्थित इज्मीर घाटी अफीम उत्पादन हेतु प्रसिद्ध है। कस्तुनतुनिया/इस्तांबुल विश्व का एकमात्र ऐसा नगर है जो दों महाद्वीपों (एशिया व यूरोप) में स्थित है। लेबनान

दक्षिण एशिया में स्थित देश (Countries located in South Asia)

श्रीलंका (Sri Lanka) श्रीलंका (SriLanka) देश की आकृति आँसू की बूंद की तरह है, तथा श्रीलंका की भाषा – सिंहली है। श्रीलंका (SriLanka) को पूर्व का मोती/प्राचीन का मोती/जवाहरातों का द्वीप के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ स्थित हम्बनटोटा बंदरगाह (Hambantota harbor) चीन द्वारा तथा प्रिंकोमलि बंदरगाह (Prinkomali harbor) भारत द्वारा विकसित किया जा रहा है। यहाँ स्थित

दक्षिण-पूर्वी एशिया के देश (Countries of Southeast Asia)

इंडोनेशिया (Indonesia) इंडोनेशिया (Indonesia) की राजधानी राजधानी जकार्ता है। इंडोनेशिया (Indonesia) विश्व का सबसे बड़ा द्वीप समूह (13600 द्वीप लगभग) है। द्वीप बोर्नियों (कालिमंतन) — यह एशिया तथा इंडोनेशिया (Indonesia) का सबसे बड़ा द्वीप (क्षेत्रफल की दृष्टि से) है, इसी द्वीप पर मलेशिया व ब्रूनेई देश भी स्थित है। Note : ग्रीनलैण्ड (Denmark) — विश्व का सबसे बड़ा द्वीप समूह पापुआ न्यू गिनी — विश्व का दूसरा सबसे

बिहार में वन्य जीव-जंतु एवं संरक्षण

भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा भारत में वन्य जीव-जंतु संरक्षण हेतु योजनाओं का क्रियान्वयन एवं निर्देशन किया जाता है। इसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री होते हैं। वन्य जीवन (सुरक्षा) अधिनियम, 1972 में वन्य जीवन के संरक्षण एवं विलुप्त होती जा रही प्रजातियों के संरक्षण के लिए दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इस अधिनियम के अंतर्गत दुर्लभ और ख़त्म होती
error: Content is protected !!