ईरान के साथ व्यापार के लिए यूरोपीय देशों द्वारा नए भुगतान चैनल (INSTEX) की घोषणा

new payment channel between iran and europian union

हाल ही में यूरोपीय देशों (जर्मनी, फ्रांस और इंग्लैंड) ने ईरान के साथ एक अलग भुगतान चैनल (Payment channel) बनाने की घोषणा की है। यह भुगतान चैनल (Payment channel), INSTEX के नाम से बना है, जिसका उद्देश्य अमेरिकी प्रतिबंधों को दरकिनार कर, ईरान के साथ व्यापार जारी रखना है।

यूरोपीय देशों का कहना है कि उनका प्रयास अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद ईरान के साथ व्यापार जारी रखने का है। अमेरिका की ओर से अभी तक इस विषय पर कोई विशेष टिप्पणी नहीं की गई है, लेकिन उम्मीद है कि इससे विश्व में Trade war बढ़ेगा।

ईरान भुगतान चैनल का मुख्य भुगतान बिंदु

यह भुगतान चैनल जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन द्वारा तैयार किया गया है। जिसका नाम INSTEX (Instrument of Sport of Trade Exchange) है।

ईरान पर लगाए गए अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद, इस भुगतान चैनल के माध्यम से ईरान से व्यापार किया जा सकता है।

INSTEX का मुख्यालय फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगा। जिसका प्रबंधन जर्मनी के बैंकिंग विशेषज्ञ करेंगे तथा ब्रिटेन पर्यवेक्षी बोर्ड (supervisory board) का कार्य करेगा।

यूरोपीय देशों द्वारा शुरूआत  में इस भुगतान चैनल के माध्यम से ईरान को खाद्य, दवाएं और चिकित्सा के उपकरण निर्यात किये जायेंगे, किंतु भविष्य में इसमें अन्य सेवाओं और उत्पादों को भी शामिल किया जा सकता है।

बेल्जियम का कहना है कि यूरोप उन चिंताओं से पूरी तरह सहमत नहीं है जो  चिंता अमेरिका, ईरान के बारे में करता है।

यह कंपनियों पर निर्भर करता है कि वे ईरान में कार्य करना चाहते हैं या नहीं, किन्तु अमेरिकी प्रतिबंधों से होने वाले जोखिमों का उन्हें ध्यान रखना होगा।

यूरोपीय देशों द्वारा किए गए  इन प्रयासों को वर्ष  2015 में ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते को बचाने के प्रयास के रूप में देखा जा सकता है।

पृष्ठभूमि

अक्टूबर 2015 में अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस, ब्रिटेन और जर्मनी ने ईरान के साथ परमाणु समझौता किया था। किंतु इसके कुछ माह पश्चात ही, मई 2018 में, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा अमेरिका को समझौते से अलग करने की घोषणा की गयी और ईरान पर पुन: प्रतिबंध लगा दिया। अमेरिकी के परमाणु समझौते से अलग होने के बावजूद भी, यूरोपीय संघ ने इस समझौते जुड़े रहने की घोषणा की है। जनवरी 2019 में, ईरान के ओरान मिसाइल परीक्षण तथा यूरोप में ईरानी सत्ता विरोधियों की हत्या की साजिश के पश्चात, यूरोपीय संघ ने ईरान पर कुछ प्रतिबंध लगाए हैं, किंतु यूरोपीय संघ ईरान के साथ संबंधों को पूर्णतः समाप्त करने के पक्ष में नहीं है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *