बिहार के प्रमुख गर्म जलकुंड

बिहार के प्रमुख गर्म जलकुंड

बिहार में सदाबहार एवं मौसमी नदियों के अतिरिक्त  जल के अन्य प्रमुख स्रोतों जैसे – गर्म जल के स्रोत (कुंड), जलप्रपात, झील आदि सम्मिलित हैं।

बिहार के गया, नालंदा और मुंगेर क्षेत्रो में गर्म जल के अनेक कुंड हैं। वह प्राकृतिक स्थल जहाँ जल भूगर्भ से स्वतः बाहर निकालता है कुंड कहलाते है। यह भूगर्भिक गर्म जल है, जो भूपर्पटी से बहार निकलता है। इस जल का तापमान 300 सेंटीग्रेड से 700 सेंटीग्रेड के मध्य होता है। गर्म जल होने का कारण मृत ज्वालामुखी का मुख तथा रेडियो एक्टिव (Radioactive) खनिज है। इस जल में पर्याप्त मात्रा में खनिज, लवण और गंधक आदि पाए जाते हैं।  इन जलकुंडों की एक प्रमुख विशेषता यह है कि यहाँ के जल का साल भर तापमान लगभग एक समान रहता है।

राजगीर में स्थित प्रमुख गर्म जलकुंड सप्तधारा (सतधरवा), ब्रह्मकुंड, सूर्यकुंड, मखदूमकुंड, नानककुंड, गोमुखकुंड आदि हैं। इनमें सर्वाधिक गर्म जल ब्रह्मकुंड का है, जिसका तापमान लगभग 870 सेंटीग्रेड है, जबकि अन्य जलकुंड का तापमान लगभग 700 सेंटीग्रेड रहता है। |

मुंगेर में स्थित गरम जलकुंड मूलतः खड़गपुर की पहाड़ियों में स्थित है। मुंगेर के प्रमुख जलकुंड सीताकुंड, रामेश्वरकुंड, लक्ष्मणकुंड, ऋषिकुंड, जन्मकुंड, लक्ष्मीश्वरकुंड, भीमबाँध, शृंगारऋषिकुंड, भरारीकुंड, पंचतरकुंड आदि हैं। इनमे सर्वाधिक गर्म जलकुंड, लक्ष्मणकुंड है जिसके जल का तापमान लगभग 620 सेंटीग्रेड है।

अग्निकुंड नामक गर्म जल कुंड बिहार के गया में स्थित है।

बिहार के प्रमुख गर्म जलकुंड 

क्र.स. नाम स्थान
1. ब्रह्मकुंड राजगीर (बिहार का सबसे गरम जलकुंड)
2. सप्तधारा/सतधरवा राजगीर
3. सूर्यकुंड राजगीर
4. मखदूमकुंड राजगीर
5. नानककुंड राजगीर
6.  गोमुखकुंड राजगीर
7. लक्ष्मणकुंड मुंगेर
8. सीताकुंड मुंगेर
9. रामेश्वरकुंड मुंगेर
10. ऋषिकुंड मुंगेर
11. जन्मकुंड मुंगेर
12. भीमबाँध मुंगेर
13. श्रृंगार ऋषिकुंड मुंगेर
14. भरारी कुंड मुंगेर
15. पंचतरकुंड मुंगेर
16. अग्निकुंड गया

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!