पारिस्थितिकी तंत्र के प्रकार

इस शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग A.G Tansle द्वारा 1935 में किया गया | पारिस्थितिकी तंत्र के अंतर्गत जैविक एवं अजैविक संघटकों के समूह को सम्मिलित किया जाता है, जो पारस्परिक क्रिया में सम्मिलित होकर पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) का निर्माण करते है| इसे  मुखयत: दो भागों में विभाजित किया जा सकता है —

  1. प्राकृतिक पारितंत्र (Natural ecosystem)
  2. मानव निर्मित पारितंत्र (Manmade ecosystem)

प्राकृतिक पारितंत्र (Natural ecosystem)

 

natural ecosystem

मानव निर्मित पारितंत्र (Manmade ecosystem)

  • सौर ऊर्जा पर निर्भर वह पारितंत्र जो मनुष्य द्वारा निर्मित किए गए है, जैसे – खेत, एक्वाकल्चर और कृत्रिम तालाब|
  • जीवाश्म ईधन पर निर्भर पारितंत्र, जैसे – नगरीय पारितंत्र , औद्योगिक पारितंत्र

manmade ecosystem

 

Read More :   पारिस्थितिकी तंत्र की समस्या (Ecosystem problem)

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!