भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त

gita gopinath

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF) ने 01 अक्टूबर 2018 को भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ को मुख्य अर्थशास्त्री नियुक्त किया है, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF) में इस पद पर पहुंचने वाली गीता दूसरी भारतीय हैं. उनसे पहले भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के पूर्व  गवर्नर रघुराम राजन भी IMF में प्रमुख अर्थशास्त्री रह चुके हैं|

गीता गोपीनाथ की नियुक्ति की घोषणा करते हुए IMF की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्दे ने कहा कि “गोपीनाथ दुनिया के उत्कृष्ट अर्थशास्त्रियों में से एक हैं और उनका पिछला रिकॉर्ड बेहद शानदार है और उन्हें वृहद अंतर्राष्ट्रीय अनुभव हासिल है”

परिचय

  •  गीता गोपीनाथ ने अपनी एम.ए (M.A) की डिग्री दिल्ली स्कूल ऑफ इकॉनामिक्स (Delhi School of Economics) से हासिल की है, वह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (Harvard University) में अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन और अर्थशास्त्र की जॉन ज्वानस्त्रा प्रोफेसर हैं|
  •  गीता गोपीनाथ केरल के मुख्यमंत्री की आर्थिक सलाहकार भी हैं और हार्वर्ड में प्रकाशित उनके जीवन परिचय के मुताबिक, इस मानद पद पर उनकी नियुक्ति साल 2016 में हुई थी और उन्हें मुख्य सचिव का रैंक दिया गया है|
  •  वह भारत के वित्त मंत्रालय के G-20 सलाहकार समिति में प्रतिष्ठित सदस्य के रूप में शामिल रही हैं|
  •   उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय व्यापक अर्थशास्त्र और व्यापार पर किए गए शोध से साल 2001 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी (Princeton University) से अर्थशास्त्र में पीएचडी (Ph.D) की उपाधि हासिल की है|
  •  गीता गोपीनाथ वर्ष 2005 में हार्वर्ड में शामिल हुईं, उससे पहले वह यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो (University of Chicago) में असिस्टेंट प्रोफेसर थीं|
  •  गीता अमेरिकन इकोनॉमिक्स रिव्यू की सह-संपादक और नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च (National Bureau of Economic Research – NBER) में इंटरनेशनल फाइनेंस एंड मैक्रोइोकनॉमिक (International Finance and Macroeconomic) की सह-निदेशक भी थी|
  •  उन्होंने अपनी स्नातक की डिग्री दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज से हासिल की है|

 कार्यभार

गीता अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International monetary fund – IMF) के जिस विभाग की निदेशक नियुक्त की गई हैं, उसका कार्यभार संस्था में सबसे अहम माना जाता है, IMF का यह अनुसंधान विभाग विश्व भर की अर्थव्यतवस्थामओं पर अध्ययन करके सदस्य देशों के लिए जरूरी नीतियां तैयार करता है, साथ ही साथ उन मुद्दों पर रिसर्च को अंजाम देता है जो आईएमएफ के लिए अहम होते हैं. इसके अतिरिक्त विश्व की अर्थव्यवस्थाएं अगले कुछ वर्षों में कैसी होगी इस बारे में भी अनुमान लगाना इस विभाग का काम है|

 अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF)

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF) एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है, जो अपने सदस्य देशों की वैश्विक आर्थिक स्थिति पर नज़र रखने का काम करती है, यह अपने सदस्य देशों को आर्थिक और तकनीकी सहायता प्रदान करती है, यह संगठन अंतरराष्ट्रीय विनिमय दरों को स्थिर रखने के साथ-साथ विकास को सुगम करने में सहायता करता है, इसका मुख्यालय वॉशिंगटन डी॰ सी॰ (Washington D.C.) , संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America) में है,  इसकी वर्तमान प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड (Germany)  हैं|

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!