ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग इंडेक्स में भारत को मिली 30वीं रैंक, जापान शीर्ष पर

व‌र्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (W.E.F) ने ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग इंडेक्स में भारत को 30वीं  स्थान दिया गया है। इस सूची में भारत अन्य ब्रिक्स देशों ब्राजील, रूस और दक्षिण अफ्रीका से आगे है। इस सूची में चीन को पांचवां स्थान मिला है, जबकि जापान पहले स्थान पर रहा।

ब्रिक्स देशों में भारत से आगे सिर्फ चीन 

विश्व आर्थिक मंच (W.E.F) की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिक्स देशों में चीन को 5वां, भारत को 30वां, रूस को 35वां, ब्राजील को 41वां और दक्षिण अफ्रीका को 45वां स्थान मिला है। शीर्ष-10 देशों की सूची में  पहले स्थान पर जापान के बाद दक्षिण कोरिया, जर्मनी, स्विट्जरलैंड, चीन, चेक रिपब्लिक, अमेरिका, स्वीडन, ऑस्ट्रियाऔर आयरलैंड के नाम हैं।

दुनिया का 5वां बड़ा मैन्युफैक्चरर है भारत

विश्व आर्थिक मंच (W.E.F)  के अनुसार, भारत दुनिया का 5वां बड़ा मैन्युफैक्चरर देश है। रिपोर्ट में आधुनिक औद्योगिक रणनीतियों के विकास का विश्लेषण किया गया है और इसमें सामूहिक कार्रवाई पर जोर दिया गया है। इसमें 100 देशों को चार श्रेणियां में वर्गीकृत किया गया है। ये चार श्रेणियां  हैं-

  • अग्रणी – Leading (मजबूत मौजूदा आधार, भविष्य के लिए उच्चस्तर की तैयारियां)
  • बेहतर संभावना – High Potential (सीमित मौजूदा आधार, भविष्य के लिये बेहतर संभावना)
  •  विरासती -Legacy (मजबूत मौजूदा आधार, भविष्य में जोखिम)
  • उदीयमान – Nascent (सीमित मौजूदा आधार, भविष्य की तैयारियां भी निचले स्तर पर)

भारत के बारे में विश्व आर्थिक मंच (W.E.F) ने कहा है कि, यह दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और भारत में विनिर्मित उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है। विश्व आर्थिक मंच (W.E.F) ने कहा कि पिछले तीन दशकों में भारत का विनिर्माण क्षेत्र सालाना आधार पर औसतन 7% बढ़ा है। विनिर्माण क्षेत्र का देश के सकल घरेलू उत्पाद (G.D.P) में 16 से 20 प्रतिशत योगदान है।

Read More :   उत्तर प्रदेश सरकार ने ‘इलाहाबाद’ का नाम बदलकर ‘प्रयागराज’ किया

NOTE

विरासती (Legacy) में वे देश जिनका वर्तमान आधार तो मजूबत है लेकिन भविष्‍य में रिस्क दिखता है। इस कैटेगरी में भारत को रखा गया है।

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!