भारत में ब्रिटिश साम्राज्य की आर्थिक नीतियाँ और प्रशासनिक ढाँचा (15 Qus.)

Economic policies and administrative frameworks of the British Empire in India

1. 1773 के रेगुलेटिंग एक्ट को पास करने के प्रमुख कारण थे-

1. भारत में स्थित कंपनी के अधिकारियों और सैनिकों पर नियंत्रण करना।
2. कंपनी को प्राप्त विशेषाधिकारों पर मुक्त व्यापार और पूंजीवाद का प्रतिनिधित्व करने वाले अर्थशात्रियों द्वारा आलोचना करना।
3. कंपनी के हितों तथा ब्रिटिश समाज के प्रभावशाली लोगों के बीच संतुलन कायम करना।
4. ब्रिटिश सरकार द्वारा विश्व के अन्य भागों में होने वाले युद्धों के खर्च का बोझ कम करना।

कूटः

(A) केवल 1, 2 और 4
(B) केवल 1, 2 और 3
(C) केवल 2 और 3
(D) केवल 3 और 4

2. 1773 के रेगुलेटिंग एक्ट के प्रावधान थे –

1. पूर्व के साथ व्यापार पर कंपनी का एकाधिकार समाप्त कर दिया गया।
2. कंपनी के कोर्ट ऑफ डायरेक्टर्स के गठन में परिवर्तन कर उसकी गतिविधियाँ ब्रिटिश सरकार के अंतर्गत लाई गईं।
3. भारत में कंपनी के अधिकारियों की नियुक्ति ब्रिटिश सरकार के द्वारा की जाने लगी।

कूटः

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 2
(D) केवल 3


3. 1784 के पिट्स  इंडिया एक्ट के संबंध में कौन-सा कथन असत्य है?
(A) इसके तहत ब्रिटिश सरकार का कंपनी के मालों तथा उसके भारतीय प्रशासन पर पूरा नियंत्रण हो गया।
(B) इस एक्ट के तहत बोर्ड ऑफ कंट्रोल का गठन किया गया।
(C) इस कानून ने बंबई और मद्रास प्रेसिडेंसियों को युद्ध, कूटनीति और राजस्व के मामले में निर्णय लेने के लिये स्वतंत्र कर दिया।
(D) इस कानून ने भारत के शासन को गवर्नर जनरल तथा तीन सदस्यों वाली काउंसिल के हाथों में दे दिया।

4. निम्नलिखित में किस एक्ट के अंतर्गत ईस्ट इंडिया कंपनी का भारतीय व्यापार पर एकाधिकार समाप्त कर सभी ब्रिटिश नागरिकों को भारत के साथ व्यापार करने की छूट दी गई-
(A) 1773 के रेगुलेटिंग एक्ट के तहत
(B) 1784 के पिट इंडिया एक्ट के तहत
(C) 1833 के चार्टर एक्ट के तहत
(D) 1813 के चार्टर एक्ट के तहत

5. भारत में ब्रिटिश उपनिवेशवाद के विभिन्न चरणों के संबंध में कौन-सा युग्म सही सुमेलित हैं |

1. 1757 – 1813    :  वाणिज्यिक नीति
2. 1813 – 1860    :  औद्योगिक मुक्त व्यापार
3. 1860 के बाद      : मुक्त व्यापार की नीति

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य  हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

6. 1813 में ब्रिटिश सरकार द्वारा अपनाई गई मुक्त व्यापार की नीति के प्रभावों के संबंध में  विचार कीजिये |

1. इस नीति के कारण खेतिहर भारत को इंग्लैंड का आर्थिक उपनिवेश बनना पड़ा।
2. भारत में ब्रिटिश माल तथा ब्रिटेन में भारत निर्मित सामान बिना किसी शुल्क के साथ आने-जाने लगे।
3. ब्रिटिश अधिकारियों तथा राजनेताओं ने ज़मीन का लगान घटाने की पैरवी की।

Read More :   तीन साम्राज्यों का युग (12 Qus.)

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य है ?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 1 और 3
(C) केवल 2
(D) 1, 2 और 3

7. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये 

1. भारत में पहली तार लाइन का आरंभ कलकत्ता और आगरा के बीच किया गया।
2. भारत में डाक-टिकटों को आरंभ करने का श्रेय कार्नवालिस को दिया जाता है।

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य  हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

8.  किस गवर्नर जनरल के काल में भारत में रेलवे लाइन का विकास हुआ |
(A) लॉर्ड कर्जन
(B) लॉर्ड डलहौजी
(C) लॉर्ड वेलेज़ली
(D) वॉरेन हेस्टिंग्स

9. भारत में  19 वीं शताब्दी में रेलवे के विकास के प्रमुख उद्देश्य थे-

1. ब्रिटिश पूंजीपतियों को लाभ पहुँचाना।
2. भारतीय जनता का आर्थिक एवं राजनीतिक विकास करना।
3. भारत में वस्तुओं के आंतरिक आवागमन को प्रोत्साहित करना।

कूटः

(A) केवल 1
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

10. ‘इस्तमरारी बंदोबस्त’ का आरंभ किसके प्रशासन काल में किया गया |
(A) वॉरेन हेस्टिंग्ज
(B) सर जॉन शोर
(C) लॉर्ड कार्नवालिस
(D) टॉमस मुनरो

11. भारत में इस्तमरारी (स्थायी) बंदोबस्त का आरंभ किन प्रांतों से किया गया?
(A) बंगाल और बिहार
(B) बंगाल और मद्रास
(C) मद्रास और बंबई
(D) मध्य प्रांत
Read More :   भारत का एशियाई देशों से सांस्कृतिक संपर्क (7 Qus.)

12. इस्तमरारी (स्थायी) व्यवस्था के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. ज़मींदारों और मालगुज़ारों को भू-स्वामी बना दिया गया।
2. रैयत (किसान) द्वारा लगान सीधे सरकार को दिया जाता था।
3. कर (लगान) की रकम को हमेशा के लिये निश्चित कर दिया गया।

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) केवल 1 और 3

13. ब्रिटिशों द्वारा भारत के दक्षिण और दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र में रैयतवाड़ी व्यवस्था को लागू करने का प्रमुख कारण था-

 

1. इन क्षेत्रों में बड़ी जागीर वाले ज़मींदारों का अभाव।
2. स्थायी बंदोबस्त में कंपनी को वित्तीय रूप से घाटा।
3. आर्थिक रूप से पिछड़ा हुआ क्षेत्र।

कूटः

(A) केवल 1
(B) केवल 1 और 2
(C) केवल 3
(D) केवल 2 और 3

14. रैयतवाड़ी बंदोबस्त के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये |

1. किसानों द्वारा लगान सीधे सरकार को दिया जाता था।
2. किसान को ज़मीन का वास्तविक मालिक माना जाता था।
3. करों (मालगुज़ारी) का निर्धारण समय-समय पर किया जाता था।

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) 1, 2 और 3
(D) केवल 3

15. ब्रिटिश भू-राजस्व नीतियों के संबंध में  विचार कीजिये |

1. स्थायी तथा रैयतवाड़ी बंदोबस्त देश की परंपरागत भूमि-प्रथाओं से मूलतः भिन्न थी।
2. ब्रिटिशों ने भूमि को बेचने, गिरवी रखने और हस्तांतरित की जा सकने वाली वस्तु बना दिया।

उपरोक्त में से कौन-सा कथन सत्य हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!