Daily Current Affairs 10 feb 2018

यूनानी चिकित्सा पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन (International Conference on Greek Medicine)

आयुष मंत्रालय के अंतर्गत यूनानी चिकित्सा में अनुसंधान के लिए केंद्रीय परिषद  (CCRUM) द्वारा यूनानी चिकित्सा पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित कर रही है। इस सम्मेलन की थीम  ” मुख्यधारा स्वास्थ्य सेवा में यूनानी चिकित्सा प्रणाली का एकीकरण ” प्रत्येक वर्ष 11 फरवरी को यूनानी अनुसंधानकर्ता हकीम अजमल खान के जन्मदिन यूनानी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

मुख्य विशेषता

  • 11 फरवरी को हकीम अजमल खान की 150वीं जयंती के कारण यह वर्ष यूनानी चिकित्सा प्रणाली से जुड़े लोगों के लिये बहुत विशेष है।
  •  राष्ट्रीय प्रतिनिधियों के अलावा विभिन्न देशों जैसे कि दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन, श्रीलंका, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, पुर्तगाल, संयुक्त अरब अमीरात, स्लोवेनिया, इजरायल, हंगरी, बहरीन, ताजिकिस्तान, इत्यादि के प्रतिनिधि भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे।
  • हकीम अजमल खान ने 1921 में कॉन्ग्रेस के अहमदाबाद अधिवेशन और खिलाफत कांग्रेस की अध्यक्षता भी की थी।
  • हकीम अजमल खान एक प्रतिष्ठित भारतीय यूनानी चिकित्सक थे जो बहुमुखी प्रतिभा के धनी, स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षाविद और यूनानी चिकित्सा में वैज्ञानिक शोध के संस्थापक थे।

हुनर हाट (Hunar Haat)

अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा 11 फरवरी 2018 से नई दिल्ली में ‘हुनर हाट’ के छठे संस्करण की औपचारिक रूप से शुरुआत की जाएगी, 10-18 फरवरी तक आयोजित होने वाले इस सम्मेलन की थीम  सम्मान के साथ विकास –Development with Dignity “ है।

मुख्य विशेषता

  • इस सम्मलेन का उद्देश्य देश के  दस्तकारों को अवसर प्रदान करने के साथ-साथ उन्हें घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय व्यापकता प्रदान करना है।
  • देश भर के अल्पसंख्यक तबकों के दस्तकारों, शिल्पकारों के हस्त निर्मित सामानों की बिक्री के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय ने ई-पोर्टल बनाया है, जहाँ कारीगरों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय मार्किट मिलेगा।
  • इस सम्मलेन में पिछले एक वर्ष में ‘हुनर हाट’ 3 लाख से अधिक दस्तकारों, शिल्पकारों और उनसे जुड़े लोगों को रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराने में सफल रहे है।
  • इससे पूर्व ‘हुनर हाट’ के पाँच सम्मलेन क्रमश: दिल्ली में प्रगति मैदान (2016 & 2017) , बाबा खड़क सिंह मार्ग (2017), पुड्डुचेरी (2017) तथा मुम्बई (2017) में आयोजित किये गए।
  • इस हाट के आयोजन से उस्ताद कलाकारों , शिल्पकारों तथा कला विशेषज्ञों को प्रोत्साहन मिलता है और दस्तकारों को घरेलू तथा अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार भी अपने सामान के विक्रय के लिए मिलते है।
Read More :   सुप्रीम कोर्ट का धारा-377 पर ऐतिहासिक फैसला (समलैंगिकता अब अपराध नहीं)

अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक (Global Inovation Policy Centre)

यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स की रिपोर्ट के मुताबिक  अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक (Global Innovation Policy Centre) ने अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक में भारत को 50 देशों की सूची में 44वाँ स्थान दिया है । इस सूची में शीर्ष 3 देश क्रमश: –

  • संयुक्त राज्य अमेरिका (USA)
  • यूनाइटेड किंगडम (U.K)
  • स्वीडन (Sweden)

मुख्य विशेषता

  • पिछले वर्ष भारत 45 देशों की सूची में 43वें स्थान पर था।
  • ब्रिक्स देशों में चीन 27 वें स्थान पर है, दक्षिण अफ्रीका (33 वें), ब्राजील (32 वें) और रूस (23 वें) स्थान पर है ।
  • अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार सूचकांक अमेरिकी वाणिज्यिक संगठन ‘यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स’ द्वारा वर्ष 2007 में स्थापित ‘ग्लोबल इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी सेंटर’ द्वारा दिसंबर, 2012 से जारी किया जा रहा है।

Source :  PIB & The Hindu

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!