मौर्योंत्तर युग में शिल्प,व्यापार और नगर (प्रश्न-9)

Crafts, trade and cities in the later -Mauryan era

1. मौर्योत्तर काल के व्यापार के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा कथन असत्य है?

(A) भारत और पूर्वी रोमन साम्राज्य के बीच का व्यापार आरम्भ से ही समुद्र मार्ग द्वारा होता था।
(B) भारत और रोम के बीच व्यापार में विलास की वस्तुओं का महत्त्व अधिक होता था।
(C) भड़ौच और सोपारा बंदरगाह पश्चिमी समुद्र तथा अरिकमेडु और ताम्रलिप्ति पूर्वी तट पर स्थित थी।
(D) भड़ौच सबसे महत्त्वपूर्ण बंदरगाह था।

2. मौर्योत्तर काल में व्यापार के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. इस काल में मथुरा वस्त्र निर्माण का केंद्र बन गया था।
2. उत्तर भारत में रंगरेज़ी एक उन्नत शिल्प था।
3. भारत में यह काल शिल्प और वाणिज्य के इतिहास में चरम उत्कर्ष का काल था।

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

3. मौर्योत्तर काल के व्यापार के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. इस काल के शिल्पी वर्ग के संगठन का नाम श्रेणी था।
2. भारत में कांच ढालने की जानकारी ईसवी सन् के आरंभ में प्राप्त हुई थी।

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

4. मौर्योत्तर काल के व्यापार मार्गों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. शक और कुषाण लोग व्यापार के लिये पश्चिमोत्तर सीमा प्रांत से पश्चिमी समुद्र तट तक दो मार्गों से जाते थे, और ये दोनों मार्ग तक्षशिला में मिलते थे।
2. पहला मार्ग उत्तर से दक्षिण की ओर जाता हुआ तक्षशिला तथा पंजाब से होते हुए मालवा और उज्जैन से भड़ौच तक पहुँचता था।

Read More :   सामाजिक परिवर्तनों का अनुक्रम (7 Qus.)

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

5.  निम्नलिखित में कौन-से नगर सातवाहन काल में आर्थिक रूप से सर्वाधिक समृद्ध माने जाते थे?

1. भड़ौच और अमरावती
2. अमरावती, नागार्जुनकोंड और पैठन
3. अमरावती, अरिकमेडु और कावेरीपट्टनम
4. धान्यकटक, अमरावती, भड़ौच, नागार्जुनकोंड और कावेरीपट्टनम

नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनियेः

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2, 3 और 4

6.  मौर्योत्तर काल में विदेश व्यापार के संदर्भ में निम्नलिखित कौन-सा कथन में सत्य हैं?

1. रोमन साम्राज्य ने भारत में सबसे पहले उत्तर और मध्य भारत से व्यापार आरंभ किया था।
2. ये लोग दक्षिण भारत से मसाला, मोती और रत्न का आयात करते थे।
3. रेशम मार्ग से रेशम अफगानिस्तान और ईरान से गुज़रते हुए रोमन साम्राज्य को जाता था।

नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनियेः

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

Read More :   18 वीं सदी का भारत (30 Qus.)
7. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. सातवाहन सिक्के ढालने के लिये सीसा रोम से मंगवाते थे।
2. गोल मिर्च को ‘यवनप्रिय’ कहा जाता था।
3. रोम सम्राट ट्रॉजन ने फारस की खाड़ी का पता लगाया था।

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

8. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. भारत में कुषाण काल में नगरीकरण उत्कर्ष के शिखर पर पहुँचा।
2. कुषाण काल में ‘वाराणसी से गोमेद और इन्द्रगोप (कार्नेलियन) का निर्यात रोम को किया जाता था।

उपर्युक्त कथनों में कौन-सा/से सत्य है/हैं?

(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

Answer: (A)
व्याख्याः

  • भारत में नगरीकरण कुषाण काल में उत्कर्ष के शिखर पर पहुँचा था। अतः कथन (1) सत्य है।
  • उल्लेखनीय है कि मालवा और पश्चिमी भारत शक शासकों के काल में समृद्ध थे।
  • कुषाण काल में उज्जयिनी महत्त्वपूर्ण नगर था, जहाँ से दो मार्ग पहला कौशाम्बी से और दूसरा मथुरा जाने वाले मार्ग से मिलता था। उज्जयिनी से गोमेद और इन्द्रगोप( कार्नेलियन) पत्थरों का निर्यात होता था। अतः कथन (2) असत्य है।

9. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः

1. कुषाण और सातवाहन साम्राज्यों में नगरों की उन्नति का कारण रोमन साम्राज्य के साथ व्यापार था।
2. कुषाण साम्राज्य के कारण पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नगर समृद्ध हुए थे।
3. कुषाण राजाओं ने मार्गों की सुरक्षा का प्रबंधन किया था।

उपर्युक्त कथनों में कौन से सत्य हैं?

(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 3
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!